इंटरनेशनल डांस कोरियोग्राफी के साथ वरुण की मेलोड्रामेटिक एक्टिंग फिल्म को थोडा फीका कर देती है

स्ट्रीट डांसर फिल्म रिव्यु इंटरनेशनल डांस कोरियोग्राफी के साथ वरुण की मेलोड्रामेटिक अभिनय फिल्म को थोडा फीका कर देता है पुरानी गीसी पिटी कहानी में विदेशो में रह रहे अवैध तौर से रह रहे अप्रवासियों के दर्द को भुनाने की भरपूर कोशिश की गयी है।  जो थोडा बहुत असर डालती भी है लकिन कहानी की कमी के चलते स्ट्रीट डांसर फिल्म सिर्फ डांस रियलिटी शो बन कर ही रह गयी। 

 

इंटरनेशनल डांस कोरियोग्राफी के साथ वरुण की मेलोड्रामेटिक एक्टिंग फिल्म को थोडा फीका कर देती  है

Street Dancer 3D Film Duration & Cast and Crew


Release date-24 January 2020

Film Duration: 2 Hr 30 min (150 min)

Genre-Dance /Drama/Romance

Cast (कास्ट): वरुण धवन (Varun Dhawan),श्रद्धा कपूर (Shraddha Kapoor),नोरा फतेही (Nora Fatehi) प्रभु देवा (Prabhu Deva)

Director (निर्देशक): रेमो डिसूजा (Remo D'Souza)

Producer (निर्माता): भूषण कुमार(Bhushan Kumar),दिव्या खोसला कुमार(Divya Khosla Kumar),कृष्ण कुमार(Krishan Kumar) और लिजेल डिसूजा(Lizelle D’Souza)

Story (कहानी): रेमो डिसूजा (Remo D'Souza)

Screenplay (स्टोरी स्क्रीनप्ले) : तुषार हीरानंदानी(Tushar Hiranandani)

Dialogues (संवाद) : फरद समजी(Farad Samji)

Music (संगीत): सचिन जिगर (Sachin – Jigar)

Cinematographer (छायाकार) : विजय कुमार अरोड़ा

Choreography (कोरियोग्राफी)कृति महेश (Kruti Mahesh)राहुल शेट्टी Rahul Shetty (RnP), टशन मुइर (Tashan Muir)

Rating (रेटिंग) : स्टार (में से)

Experience (अनुभव) : 👌👌👌👌

 

स्ट्रीट डांसर(3D)मूवी रिव्यु (Street Dancer (3D) Full movie Review) 

 

'एबीसीडीऔर 'एबीसीडी 2' के बाद डांस पर रेमो डिसूजा अपनी अगली फिल्म 'स्ट्रीट डांसर 3 डीलेकर आए हैं। इसे वह 'एबीसीडीफ्रेंचाइजी से अलग करने की कोशिश तो की लेकिन यह फिल्म उसी जोन में बनी है।

खैर इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की की फिल्म किस जोन की है लेकिन उनसे उम्मीद थी की वो इस फिल्म में काहनी पे काम करंगे लेकिन वो ही पुराना ट्रैक दो डांस ग्रुप के बीच भिडंत है जो एक दुसरे को फूटी आंख भी नहीं भाते और फिर एक हो जाते है ये किंतनी बार देख चुके है कुछ नया नहीं है बस नया है तो इसमें इंटरनेशनल स्तर डांस कोरियोग्राफी जो इसे देखने लायक बनती है | 

लेकिन वरुण धवन की मेलोड्रामेटिक अभिनय फिल्म में एक वक़त के बाद भोझ लगने लगती है तो वही श्रदा कपूर के डांस और अभिनय में काफ़ी निखर दिखता है  और नोरा फतेही अपने डांस मूव से दर्शको को काफ़ी आकर्षित करती है तो वही प्रभुदेवा फिल्म में  जान डालते है लेकिन अगर अपार शक्ति खुराना को कम स्क्रीन स्पेस मिला है लेकिन वो उसमे भी अपनी गहरी छाप छोड़ते है 

 
स्ट्रीट डांसर(3D)मूवी की कहानी (Street Dancer (3D) Film Story)

फ़िल्म की कहानी शुरू होती है लंदन में होने वाली एक डांस प्रतियोगिता ग्राउंड जीरो (Ground zero) के साथ जहाँ इंदर (पुनीत पाठक) उस प्रतियोगिता के फिनाले में पर्फोम कर रहा है और अपने भाई सहज वरुण को अपनी टीशर्ट पर बने स्ट्रीट डांसर के logo को इंडीकेट कर गर्व महसूस कर रहा है लेकिन डांस को फ़िनिश करते वक्त इंदर (पुनीत पाठक) घायल हो जाता है। स्ट्रीट डांसर ग्रुप का ग्राउंड जीरो जीतने का सपना वहीं टूट जाता है।

दो साल बाद कहानी आगे बढ़ती है, जब इंदर का भाई सहज (वरुण धवन) भारत से पैसे कमाकर लंदन लौटता है। वह इंदर के लिए डांस क्लास खोलता है। स्ट्रीट डांसर का ग्रुप दोबारा इकट्ठा होता है। वही लंदन में एक दूसरा पाकिस्तानी डांस ग्रुप रूल ब्रेकर्स भी हैं। जिसकी मुख्य डांसर इनायत (श्रद्धा कपूर) है। दोनों ग्रुप्स की आपस में बनती नहीं है। ये दोनों ग्रुप्स एक दुसरे को नीचा दिखाने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते है चाहे इंडिया पाकिस्तान क्रिकेट मैच ही क्यूँ ना हो। 

ये दोनों ग्रुप्स अक्सर प्रभु अन्ना (प्रभुदेवा) के रेस्तरां में भारत-पाकिस्तान का मैच देखते वक्त झड़प होती रहती है। जिसके बीच बचाव अक्सर प्रभु अन्ना को पुलिस तक बुलानी पड़ती है बस कहानी इसी दोनों की झड़प में आगे बढती रहती है

इसी बीच इनायत के घर की रुदिवादी कट्टर पंती सोच दिखाई गयी है जहाँ वह घर से झूट बोलकर अपने चचेरे भाई के साथ डांस की प्रैक्टिस पर जाती रहती है और एक दिन प्रभु के रेस्तरां में इनायत कुछ लोगों को देर रात जाते देखती है। उसे पता चलता है कि वे अवैध आप्रवासी हैं, जो सड़कों पर भूखे रहने को मजबूर हैं। प्रभु अन्ना उन्हें बचा हुआ खाना खिलाते हैं।

ग्राउंड जीरो प्रतियोगिता की एन्ट्री फिर शुरू हो चुकी है जिसे इंदर (पुनीत पाठक) भाई सहज (वरुण धवन) को बताता है और उसे उसका सपना फिर से साकार करने को कहता है जिसके लिए इनायत का ग्रुप भी प्रैक्टिस शुरू कर देता है

लेकिन इसके पीछे इनायत की अच्छी सोच दिखाई गयी है प्रतियोगिता जीत कर वह उन् पैसो से अवैध आप्रवासी की मदद करने की सोचती है। जिससे वह अपने वतन वापस जा सके जिसमे उसकी मदद प्रभु अन्ना करते है लेकिन वह इनायत और सहज से कहता है कि वे मिलकर डांस करे, तो ग्राउंड जीरो जीत सकते हैं।

क्या सहज और इनयात ग्राउंड जीरो जीत कर अपना सपना पूरा करेगे? क्या दोनों एक होंगे? और क्या होगा उन अप्रवासियों का क्या वह अपने घर वापस जा पाएंगे?

इन्ही सब सवालों का जवाब देती है स्ट्रीट डांसर फ़िल्म जिसे बेहतरीन डांस पर्फोर्मांस को 3D देखने में एक अलग अनुभव होगा। 

 

स्ट्रीट डांसर(3D)मूवी में अभिनय विभाग (Street Dancer (3D) Film Acting Department)

 

वरुण धवन

वरुण धवन 'एबीसीडी' और 'एबीसीडी 2' के बाद रेमो डिसूजा के साथ इस फ़िल्म में नज़र आये है उनकी पहली दोनों फ़िल्मो की तरह वह इसमें भी अच्छे डांस मूव्स करते हुए दीखते है लेकिन हर सीन पर हावी होने कोशिश के चक्कर में मेलोड्रामेटिक हो गए या यूँ कह ले ओवर एक्ट करने लगे है जिसके चलते फ़िल्म कही-कही भोजिल-सी लगने लगती है वरुण बहुत अच्छे एक्टर है उनसे उम्मीद नहीं थी शायद फ्लॉप फ़िल्मो के दवाब में वह पथ से भटके लगते है लेकिन डांस में वह सब संभाल लेते है ओवर आल उनका एक्ट इस फ़िल्म में औसत कहेंगे और डांस बेहद उन्दा। 

 

श्रदा कपूर

श्रदा कपूर की बात करे तो उनकी भी रेमो के साथ ये तीसरी फ़िल्म है जिसमे वह डांस करती दिख रही है और उन्होंने इस बार डांस के साथ अच्छा अभिनय भी किया है उन्होंने इनयात के रोल में काफ़ी अच्छी लगी है तो नोरा फतेही जब डांस करती हैं, तो उनसे नजरें हटाना मुश्किल है उनके डांस मूव्स काफ़ी आकर्षित करते है पुनीत पाठक को भले ही डांस करने का मौका कम मिला हो, लेकिन उन्होंने अभिनय से चौंकाया है।

 

 निर्देशक (Street Dancer (3D) Movie Director) 

रेमो डिसूजा की पहली दोनों फिल्मों के मुकाबले इस फिल्म में डांस का जोश थोड़ा कम नजर आया। लेकिन 3डी में फिल्म को बनाने की कोशिश अच्छी जरूर है,लेकिन इस तकनीक का इस्तेमाल डांस में कम दिखा। वैसे फिनाले के डांस को छोड़ दे तो इसके अलावा डांस थोडा कम है अगर डांस की बात करे तो इंटरनेशनल डांस लेवल की कोरियोग्राफी को छूने का अच्छा प्रयास किया है। 

लेकिन थोडा वो स्टोरी पे काम करते तो फिल्म निखर कर आती है।फिल्म छोटी- छोटी कहानियो में बटी नज़र आती है जिसे पिरोने में फिल्म लम्बी हो गयी जैसे गैरकानूनी  तरीके से लंदन में रहने वाले अवैध आप्रवासियों का दर्दउन्हें उनके देश पहुंचाने की कोशिशभारत-पाकिस्तान के लोगों में आपसी कड़वाहट के बीच भाई का सपना पूरा करने की जद्दोजहद ये सब मसाले होते हुए भी फिल्म थोड़ी फीकी हो जाती है।  

फिल्म का पहला भाग बहुत धीमा हैतो दूसरे भाग में रेमो डांस दिखाने में कामयाब रहे। सेमी फाइनल्स और फाइनल का डांस रोंगटे खड़े करता है। वैसे फाइनल्स का मुकाबला थोडा नाटकीय लगता हैलेकिन संदेश दे जाता है कि डांस का असली मजा ढोल और भारतीय गानों पर ही आता है।

फिल्म की कहानी के साथ फिल्म के गानों पे भी काम नहीं किया है सभी गाने हम पहले सुन चुके है जिन्हें इन फिल्मो में शामिल किया गया है वैसे प्रभुदेवा के डांस को मुकाबला गाने पे देखना वाकई आपको एक नया एहसास देगा।

कुल मिलकर फिल्म डांस बेस्ड थी तो डांस ही डांस था लेकिन कहानी की कमी फिल्म को उत्क्रष्ट बनने से रोक देती है और संवाद भी कोई ऐसा नहीं है जो थियेटर से बहार आकार याद रह जाये बस याद रह जाता है तो अप्रवासियो का दर्द और फिनाले का डांस परफॉरमेंस बस और कुछ नहीं जिसपे काम किया जा सकता था 

 

👉क्यूँ देखे: अगर आप बेहतरीन डांस को 3D में अनुभव करना चाहते है तो फिल्म आपके लिए है जिसे आप 3D देख सकते है लेकिन कहानी की खोज में ना जाये इससे निराशा होगी। 

 

 

👉क्यूँ न देखे: अगर आप अच्छी कहानी के साथ डांस देखना चाहते है तो ये फिल्म आपके लिए नहीं है 

 

👉आपको मेरा द्वारा दिया गया फ़िल्म रिव्यु कैसा लगा आप मुझे कमेन्ट बॉक्स में लिख सकते है और अपने सुझाव भी दे सकते है

 

Street Dancer (3D) | Official Trailer | Varun Dhawan | Shraddha Kapoor | Nora Fatehi | Prabhu Deva | Dir: Remo D'Souza | 





Street Dancer (3D) movies Muqabla song