बेदम कहानी, ज़बरदस्त एक्शन से भरी हुई है टाइगर श्रॉफ की बागी [बागी 3 मूवी रिव्यू]

#Baaghi 3 Movie Review बॉलीवुड में कुछ ही फ़िल्मे होंगी जिनमे एक्शन के साथ एक ज़बरदस्त कहानी देखने को मिली हो, जिसे बागी 3 फ़िल्म भी पूरा नहीं करती है।हालाँकि फ़िल्म के अन्दर आपको टाइगर श्रॉफ के हैरतअंगेज और ज़बरदस्त एक्शन देखने को मिलेगा,जो की वाकई काफ़ी उन्दा तो है। लेकिन हकीकत से परे है।  बाकि टाइगर श्रॉफ और श्रद्धा कपूर की हॉट रोमांटिक केमिस्ट्री भी ठीक ठाक ही है। 

बेदम कहानी, ज़बरदस्त एक्शन से भरी हुई है टाइगर श्रॉफ की बागी [बागी 3 मूवी रिव्यू]

आइये आगे पढ़ते है बागी 3 मूवी का विस्तार रिव्यू जिसे पता चलेगा की ये फिल्म दर्शको को कितना लुभा पायेगी। वैसे भी इस समय कोरोना वायरस का डर से  थियेटर में भीड़ कम है। चलिए आगे पढ़ते है विस्तार से रिव्यू की फिल्म की कहानी से लेकर एक्टर्स और निर्देशक ने कैसे काम किया है।   

Baaghi-3 Movie Review Duration & Cast and Crew
Release Date-6-March-2020
Film Duration: 2 Hr 27 min (147Min)
Genre- Action Drama
Cast (कास्ट): टाइगर श्रॉफ,रितेश देशमुख,श्रद्धा कपूर,अंकिता लोखंडे,जमील खौरी ,जयदीप अहलावत,विजय वर्मा ,दिशा पटानी
Producer (निर्माता) - नाडियाडवाला ग्रैंडसन एंटरटेनमेंट,फॉक्स स्टार स्टूडियो
Director (निर्देशक): अहमद खान
Story (कहानी) - साजिद नाडियाडवाला
Ddialogue (संवाद)- फरहाद समजी
Screenplay (पटकथा): फरहाद समजी,कुशल खेतरपाल,ताशा भाम्बरा,मधुर शर्मा
Music (संगीत): विशाल-शेखर, बप्पी लाहिड़ी, तनिष्क बागची,टिप्पर-परम्परा,
रोशाक कोहली.प्रणय रिजिया
Cinematographer (छायाकार): सांताना कृष्णन राविचंद्रन
Rating (रेटिंग): ⭐स्टार (में से)


# बागी 3 मूवी रिव्यू (Baaghi-3 Movie full Review)

बॉलीवुड में एक्शन फिल्म के लिए इस समय टाइगर श्रॉफ निर्माता और निर्देशक की पहली पसंद है क्यूंकि वो एक्शन को बड़ी तनमयता से निभाते है लेकिन अगर बॉलीवुड के दर्शको की बात की जाये तो वह एक्शन मारधाड़ के अलावा फिल्म में कहानी भी खोजती है तभी तो वार जैसी फिल्मे सफल होती है लेकिन बागी ३ फिल्म इन सारी कौसौटी पे खरी नहीं उतरती है फिल्म में सिर्फ –सिर्फ एक्शन के अलावा कुछ नहीं है।बागी 3 फिल्म की कहानी का प्लॉट 2012 में आई तमिल मूवी Vettai  से लिए गया है। बस कहानी के तार सीरिया से जोड़ कर अतंकवादी के ख़िलाफ़ ,रॉनी की जंग को  लार्जर   करके पेश किया गया है
  


निर्देशक अहमद खान और लेखक साजिद नडियाडवाला बाग़ी 3 की कहानी के साथ न्याय नहीं कर पाए बल्कि फिल्म देख कर ऐसा लगता है क्या ऐसा हो सकता है ? एक छोटा भाई रॉनी (टाइगर श्रॉफ ) अपने बड़े भाई विक्रम (रितेश देशमुख ) को बचाने सीरिया  जैसे देश पहुच जाता है और ज़ेश ए लश्कर के खूंखार सरगना अबू अल गाजा(जमील खुरई) के चुंगल से अपने भाई को छुड़ाने की जद्दोजेहत करता है जो वाकई पूरा बॉलीवुड फ़िल्मी मसाला है सीरिया जहाँ अमेरिकी फ़ौज , रुसी फौज और मोसाद के निशाने पे हो वहां एक हिन्दुस्तानी हीरो इतने बड़े काण्ड को अंजाम देता है और इन देशो की फौजे कुछ भी नहीं करती है यहाँ तक कोई सुगबुगाहट तक नहीं होती। 

बेदम कहानी, ज़बरदस्त एक्शन से भरी हुई है टाइगर श्रॉफ की बागी [बागी 3 मूवी रिव्यू]


खैर बाग़ी 3 फिल्म  में अच्छा क्या है तो फिल्म का एक्शन,सिनेमेटोग्राफी,टाइगर श्रॉफ  का स्टंट सीक्वेंस ,रितेश की थोड़ी बहुत एक्टिंग,बाकि फिल्म में टाइगर श्रॉफ - श्रद्धा कपूर की हॉट  केमिस्ट्री के चर्चे फिल्म रिलीज़ तक ही थे क्यूंकि वो फिल्म में नदारत है
फिल्म का पहला हाफ  काफ़ी स्लो लगता है इस हाफ में थोड़ी बहुत पुरानी घिसी पीटी कहानी है जिसे हम फिल्म के ट्रेलर में देख चुके है ये समझिये की फिल्म उतनी ही है जीतनी की हम ट्रेलर में देख कर अनुमान लगा चुके है। 


दूसरा हाफ फिल्म कुछ पेस पकड़ता है जिसमे भर भर के हैरतअंगेज एक्शन सीक्वेंस है जो एक पल के बाद थोडा सा बोर करने लगते है या यूँ कहे की आँखों को विशवास नहीं होता की क्या ऐसा भी होता है तो मन से आवाज़ आती है की ऐसा तो हॉलीवुड फिल्मो में होता है जिसे निर्देशक  अहमद खान जस्टिस करने से चूक गए। 

पॉजिटिव

फिल्म को 2 स्टार (⭐⭐) मिलते है एक स्टार फिल्म के ज़बरदस्त एक्शन को एक स्टार फिल्म टाइगर श्रॉफ के एक्शन,आधा स्टार फिल्म के अभिनय विभाग को दे सकते है लेकिन वो काउंटेबल नहीं होगा।                  

निगेटिव 


फिल्म में सभी कुछ निगेटिव लगता है खास कर फिल्म का निर्देशन और कहानी जैसे की फिल्म में ये दिखया गया है की इब्राहीम लंबा उर्फ़ IPL इंडिया से लोगो की तस्करी कर सरिया भेजता है जिनका इस्तेमाल वहा सुसाइड बॉमर के रूप में किया जाता है जो की गले से नीचे नहीं उतरता होता होगा लेकिन निर्देशक अहमद खान जस्टिस नहीं कर पाए है इसलिए कहानी ,निर्देशन और अभिनय के लिए 3 स्टार (⭐⭐) कटते है। 


# बागी 3 मूवी की कहानी (Baaghi-3 Movie Story)

बागी 3 फिल्म की कहानी सीडी और सपाट है कोई ट्विस्ट एंड टर्न नहीं है फिल्म की कहानी शुरू होती है सीरिया से जहाँ रॉनी (टाइगर श्रॉफ ) अपने बड़े भाई विक्रम (रितेश देशमुख ) को ढूढ़ते हुए एक बॉडी के पास पहुचता है और अपने भाई का नाम लेकर चिल्लाता है। 


कहानी फ्लैशबैक में जाती है 15 साल पहले जहाँ कुछ बच्चे पतंग उडा रहे है वहां पे विक्रम का कुछ लडको से पंगा हो जाता है और बात मारपीट तक पहुच जाती है लेकिन विक्रम लड़ाई झगड़े से दूर रहता है क्यूंकि उसके अंदर हिम्मत नहीं है की वो किसी से लड़ाई तो छोड़ किसी को एक थप्पड़ भी मार सके जब भी ऐसी कंडीशन आती है वो अपने छोटे भाई रॉनी को आवाज़ लगाता है और वो एक पल में हाज़िर हो जाता है और विक्रम को उन बदमाश लडको से बचाता है। 


इसके चलते रॉनी को अपने पिता चरण चतुर्वेदी(जैकी श्रॉफ ) से मार भी खानी पड़ती है जिसका विक्रम को बड़ा अफ़सोस होता है एक दिन उनके पिता का देहांत हो जाता है और मरते वक़्त वो रोनी से ये वादा लेकर जाते है की जिंदगी भर तू विक्रम का ख्याल रखेगा उसे कुछ नहीं होने देगा बस फिर क्या अपना तो बॉलीवुड का हीरो जो ठेरहा मरते बाप को दिया वचन ज़िन्दगी भर निभाएगा। 


पूरी फिल्म इसी वचन के इर्द गिर्द ही बुनी गयी है कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब विक्रम(रितेश देशमुख) पुलिस में भर्ती हो जाता है और उसकी पहली पोस्टिंग आगरा के लोहा मंडी थाने में होती है और उसका सामना IPLउर्फ़ इब्राहीम लंबा से होता है। 



दरसल IPL(जयदीप अहलावत ) के तार सीरिया के ज़ेश ए लश्कर के खूंखार सरगना अबू अल गाजा(जमील खुरई) से जुड़े हुए है वो आगरा से मानव तस्करी करके सीरिया भेजता है जिनका सीरिया में  सुसाइड बॉमर के रूप में किया जाता है लेकिन इस बार विक्रम अपने भाई रॉनी की मदद से बंधक लोगो को छुड़ाने में कामयाब हो जाता है
इसके बाद IPL(जयदीप अहलावत ) भाग जाता है है और सीरिया में छुप जाता है जिसकी तलाश में इंडियन मिनिस्ट्री विक्रम को पकड़ने के लिए सीरिया भेजती है लेकिन वहां जाकर विक्रम के ज़ेश ए लश्कर सरगना अबू अल गाजा(जमील खौरी) के हत्ते चढ़ जाता है वो भी तब जब विक्रम रोनी से लाइव चैट कर रहा होता है। 

विक्रम अपने पीछे अपनी पत्नी रूचि ( अंकिता लोह्खंडे )को छोड़ कर जाता है जो की उसके बच्चे की माँ बन्ने वाली है। रॉनी (टाइगर श्रॉफ ) भाई विक्रम को अपने सामने अगवा होते देख वो सीरिया सिया (श्रद्धा कपूर ) के साथ पहुच जाता है क्या रॉनी विक्रम को सही सलामत वापस लेन में कामयाब हो पायेगा इसी थिनलाइन पे पूरी फिल्म कड़ी कर दी गयी है। 



फिल्म की कहानी पे कही सवाल ऐसे है? जिनका जवाब फिल्म के अंत तक नहीं मिलता जैसे फिल्म की हेरोइन सिया (श्रद्धा कपूर ) रोनी के साथ सीरिया क्यूँ जाती है ? माना की विक्रम उसका जीजू लगता है लेकिन ये कारण इतना बड़ा तो नहीं है ? और बहुत से सवाल है जिनका उम्मीद करता हूँ की आप लोग पूछोगे ?

 ओवेराल फिल्म वन टाइम वाच है अगर आप टाइगर श्रॉफ के फैन है तो या हॉलीवुड के एक्शन का देशी वर्शन देखना हो तो बाकि फिल्म में कही ना कही से कुछ ना कुछ उठाया हुआ है कुछ भी ओरिजिनल नहीं है। 


# बागी 3 मूवी निर्देशक (Baaghi-3 Movie Director)

निर्देशन की बात की जाये तो इस फिल्म की कमान अहमद खान के हाथों में थी जो पेशे से बेहतरीन कोरियोग्रफेर भी है।इससे पहले अहमद खान ने बागी 2 का भी निर्देशन किया था। जो बॉक्स ऑफिस पे हिट तो हो गयी थी। वो भी सिर्फ टाइगर श्रॉफ की वजह से  जिसे भुनाने के लिए एक बार फिर  बाग़ी ३ का निर्माण किया गया है लेकिन इस बार ना ही टाइगर का जादू है और ना ही अहमद खान के निर्देशन में  पैना पन । 



ऐसा लगता है की बागी ३ फिल्म टाइगर श्रॉफ को केन्द्रित करके लिखी गयी है और हो भी क्यूँ ना आखिर वो इस फिल्म के हीरो है। लेकिन ऐसा लगता है की साजिद नाडियाडवाला कहानी को लिखते वक़्त एक्शन के अलावा कुछ और लिखना भूल गए थे। जिसपे रही सही कसर  फिल्म के निर्देशक अहमद खान ने पूरी कर दी बतौर निर्देशक वो कहानी के कमज़ोर पक्ष पे ध्यान दे सकते थे।  



यहाँ तक की कहानी में टाइगर श्रॉफ और रितेश देशमुख के किरदार को छोड़ दे तो और किसी भी किरदार पे ठीक से काम नहीं किया है इसके चलते श्रद्धा कपूर ,अंकिता लोह्खंडे फिल्म में फिलर बनके रह जाते है। 




फिल्म के एक्शन सीक्वेंस को निकल दे तो फिल्म केवल ३० % ही बचती है फिल्म में कई सवाल जेहन में कौंधते है जैसे श्रध्दा कपूर सीरिया क्यूँ जाती है ? और क्या एक पुलिस वाला सीरिया किसी को गिरफ्तार करने जा सकता है ?आम हिन्दुस्तानी सीरिया जाकर इतनी तबाही मचा रहा है बड़े बड़े हेलीकाप्टर गिरा रहा है धमके कर रहा क्या ये हो सकता है ? बिना इंडियन गवर्नमेंट की सौपोर्ट के ? आखिर हीरो है तो कही कोई  बेकग्राउंड होगा की वो युद्ध कौशल में इतना निपुण है ? बाकि बहुत से सवाल है जिससे सर दर्द ही होता है लेकिन अंत तक कोई जवाब फिल्म नहीं देती है? जिसे निर्देशक और लेखक जस्टिस कर सकते थे। 


# बागी 3 मूवी में अभिनय विभाग (Baaghi-3 Movie Acting Department)

टाइगर श्रॉफ की सफल एक्शन हीरो की इमेज को निर्माता और निर्देशक भुनाने के लिए टाइगर को केन्द्रित कर फिल्म का निर्माण करते है जैसे की बाग़ी की फ्रेंचाई को ही देखे तो बाग़ी फ्रेंचाई की तीसरी फिल्म है जिसे फैन्स को बड़ी उम्मीदे थी लेकिन इस फिल्म में टाइगर श्रॉफ चुकते हुए नज़र आते है ना तो उनके पास अच्छे संवाद थे ना ही अच्छे रोमांटिक सीन बल्क्की पूरी फिल्म में टाइगर इतना चीखते चिल्लाते हैं कि लगता ही नहीं वो इस दुनिया के है ।


इस फिल्म में उनकी लड़ाई एक विलेन से ना होकर एक देश से दिखाई गयी है जो की गले नहीं उतरता वैसे अहमद खान ने टाइगर की शानदार बॉडी, हैरतअंगेज स्टंट और बेजोड़ फाइटिंग का जबरदस्त कॉकटेल पेश किया है लेकिन उन्हें अच्छे संवाद देने में नाकाम रहे जिस कारण उनका अभिनय निखर के नहीं आ पाया टाइगर श्रॉफ रॉनी के किरदार में सही लगे. उनकी एक्‍ट‍िंग भी ठीक-ठाक रही. देखा जाए तो फिल्‍म में इमोशनल ट्व‍िस्‍ट लाने की कोश‍िश जरूर की गई है, जो कि कहीं से भी इमोशनल नहीं है. तो टाइगर में भी इस इमोशनल एक्‍सप्रेशन की कमी नजर आती है। 

इसके अलावा फिल्म में रितेश देशमुख फिल्म की कहानी में उत्प्रेरक के तौर पर रखे गए और बस उतना ही काम करते हैं लेकिन कुछ भी यादगार नहीं कर पाते हैं। 

श्रद्धा कपूर का इस तरह के रोल करना उनके करियर को कोई फायदा पहुंचाता नहीं दिखता। वैसे जितना काम उन्हें मिला है, सही से किया है हां, जमील खौरी की मौजूदगी परदे पर खौफ कायम करने में कामयाब होती है।



जयदीप अहलावत  IPL की भूमिका में है जिसके साथ वो न्याय करते है लेकिन उनके किरदार को और भी मजबूत बनाया जा सकता था लेकिन ढंग से लिखा नहीं गया मोहित के अलावा इस फिल्म में विजय वर्मा अख्तर लाहौरी के किरदार में है जो पाकिस्तानी है और सीरिया में  छोटा मोटा चैन स्नेचिंग का काम करता है जिसे वो अपने ढंग से पेश करते है लेकिन उनके भाषा पाकिस्तानी कम हैदराबादी जाएदा लगती है। 


👉क्यों देखें: एक्शन  फिल्मो के साथ अगर आप टाइगर श्रॉफ के दीवाने फैन्स है तो ये फिल्म आपको निराश नहीं करेगी बाकि फिल्म की कहानी से कुछ नया सोच कर मत जाइएगा। 

👉क्यूँ ना देखें: अगर आप अच्छी कहानी के साथ एक्शन देखना चाहते है तो ये फिल्म आपके लिए नहीं है हाँ इस फिल्म में आपको हॉलीवुड फिल्मो का एक्शन स्टंट का देसी स्वरुप देखने को मिलेगा जिसे आप शायद नापसंद करे। 


👉आपको मेरा द्वारा दिया गया फ़िल्म रिव्यु कैसा लगा आप मुझे कमेन्ट बॉक्स में लिख सकते है और अपने सुझाव भी दे सकते है


Baaghi-3 Movie | Official Trailer | Tiger shroff | Shradha Kapoor | Mohit Ahlawat | Vijay Verma | Ankita lohkhande | Trailer Download |