प्रेम त्रिकोण पे घटी एक घटना के अतीत को दर्शाती अतीत फिल्म है [अतीत मूवी रिव्यू ]

ATEET FILM REVIEW आर्मी की लाइफ के ऊपर बॉलीवुड में तमाम फिल्मे बनी है। लेकिन इस फिल्म में निर्दशक तनुज भ्रमर कुछ नया दिखाना चाहते थे। लेकिन नए  ट्रीटमेंट  चक्कर में फिल्म अपने मर्म को खो देती है। 



प्रेम त्रिकोण पे घटी एक घटना के अतीत को दर्शाती अतीत फिल्म है [अतीत मूवी रिव्यू ]

एक आर्मी ऑफिसर अतीत राणा (राजीव खंडेलवाल) जंग में शहीद होने के बाद 10 साल बाद वापस आना और फिर से अपने बीवी जाह्नवी (प्रियामणि) बच्चो के साथ जीवन बिताने की चाह रखना। जबकि सब कुछ बदल गया है उसकी बीवी जाह्नवी (प्रियामणि) उसके दोस्त विश्व कर्मा (संजय सूरी) के साथ जीवन में आगे बढ़ चुकी है। उसके लिए वापस आना मुमकिन नहीं है। फिल्म का ये ट्रैक कोई नया नहीं है। इस पर पहले भी तमाम फिल्मे बन चुकी है।“दीवाना”, तुम बिन,और पुरानी क्लासिक फिल्म संगम जिसमे राजकपूर विजयंती माला और राजेन्द कुमार ने काम किया था। 


Ateet Movie Review Duration & Cast and Crew

Release Date-21 Aprail -2020
OTT – ZEE5
Film Duration: 2Hr 02 min
Genre- सस्पेंस-हॉरर थ्रिलर  
Cast (कास्ट): प्रियमणि, राजीव खंडेलवाल, संजय सूरी, विपिन शर्मा,नेहा बाम,शकील खान
Producer (निर्माता) – प्रमोद गोयल, अनिल सोमानी, अनूप तोदी, आशीष वाघ
Director (निर्देशक): तनुज भ्रमर
Writer (लेखक): हरशिल आर पटेल
Music (संगीत): हरीश सागाने
Cinematographer (छायाकार): मुकेश.जी
Rating (रेटिंग): 1.5 स्टार (में से)



अतीत मूवी रिव्यू (Ateet Movie full Review)

कोरोना की महाममरी के दौरान जब लॉक डाउन चल रहा है।इस समय OTT प्लेटफार्म की डिमांड बढ़ गयी इसी के चलते प्रोडूसर अपनी फिल्मो को डिजिटल रिलीज़ कर रहे जैसे 10 अप्रैल को “बमफाड़” हुई तो 21 अप्रैल को “अतीत” ये फिल्म सस्पेंस-हॉरर थ्रिलर के मसाले के साथ Zee5 के डिजिटल प्लेटफार्म पे रिलीज़ की गयी है।  अतीत फिल्म प्यार और जंग में सब जायज है  के फोर्मुले पे बेस्ड है। जिसपे पहले भी कई फिल्मे बन चुकी है। 
   
एक युद्ध के दौरान ऑफिसर विश्व कर्मा (संजय सूरी) के कारण उसका दोस्त कैप्टन अतीत (राजीव खंडेलवाल) अपनी जान खो देता है। इस घटना के बाद ऑफिसर विश्व कर्मा अपने दोस्त की बीवी जाह्नवी (प्रियामणि) और उसकी बच्ची को अपना कर उन्हें सहारा देता है। लेकिन 10 साल बाद एक दिन अचानक कैप्टन अतीत (राजीव खंडेलवाल) जिंदा वापस आ जाता है। जिसके बाद कैप्टन अतीत  अपने बीवी और बच्चे को पाने की जंग लड़ता है साथ ही वो जंग से जुड़े कुछ ऐसे गहरे राज़ खोलता है।  जिससे विश्व कर्मा की ज़िन्दघी में भूचाल आ जाता है। 

फिल्म में एक ऐसा राज़ भी है जिसे आप फिल्म के अंत में जान पाएंगे वैसे इस फिल्म का मुख्य आकर्षण कहे तो प्रियामणि है।  जिन्होंने फिल्म को बांधे  रखा फिल्म आर्मी बेक ग्राउंड पे आधारित है लेकिन युद्ध के सीन आपको फिल्म के अंत में  ही देखने को मिलेंगे। 

10 साल के लिए मृत घोषित होने के बाद अतीत जब वापस आता है जब फिल्म में कई ट्विस्ट आते है लेकिन कोई भी ट्विस्ट प्रभावशाली ढंग से फिल्माया नहीं गया है वैसे फिल्म में आपको प्यार,विश्वासघात ,शहीद आर्मी जवानों के परिवार की व्यथा ,और  सस्पेंस-हॉरर सीन्स देखने को मिलेंगे जिसे निर्देशन तनुज भ्रामर सही ढंग से बैलेंस नहीं कर पाए। 

अतीत मूवी की कहानी (Ateet Movie Story)

कैप्टन अतीत राणा (राजीव खंडेलवाल) युद्ध में मारे जाने के बाद, उनका दोस्त  विश्व कर्मा (संजय सूरी) अतीत की पत्नी जान्हवी (प्रिया मणि) और बेटी सना को सहारा देता है। जिसके बाद जान्हवी और विश्व कर्मा करीब आ जाते है। लेकिन10 साल बाद अतीत राणा वापस आ जाता है। जिसका आर्मी  हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है। जिसके इलाज़ में मदद के लिए डॉक्टर जान्हवी की हेल्प मांगते है। विश्व कर्मा के मना करने के बावजूद जान्हवी मान जाती है। और वो अपने अतीत से मिलती है। मिलने के बाद उसके अतीत के हालत में सुधार होने लगता है और वो ठीक हो जाता है।

10 साल बाद अतीत राणा फिर से अपनी बीवी जाह्नवी और बच्ची सना के साथ रहना चाहता है। लेकिन अब सब कुछ बदल गया है जाह्नवी के लिए वापस जाना मुंकिन नहीं है। क्यकी वो विश्व कर्मा के साथ जीवन में आगे बढ़ चुकी है।लेकिन अतीत कहता है की जब वो विशकर्मा के जंग के दौरान काले सच को जानोगी तब वो खुद मेरे पास आ जाओगी लेकिन इस पर जहान्वी कहती है काश ऐसा न हो मुझे अगर तुम दोनों में किसी को चुनना हो तो मैं सिर्फ अपनी बेटी सना को ही चुनेगी।

कैप्टन अतीत राणा पूरी तरह से ठीक होने के बाद विश्वकर्मा पे ये आरोप लगता है। की युद्ध के दौरान उसकी की वजह से मेरी और कई सैनिको की जान गयी थी। लेकिन वो किसी तरह से बच गया इसके बाद विशकर्मा  पे जांच बैठ जाती है।

जान्हवी (प्रिया मणि) को इस फिल्म में सबसे ज्यादा संघर्ष का सामना करना पड़ा, क्योंकि वह नहीं जानती कि किस पर विश्वास करना है; उसका पूर्व पति या उसका वर्तमान पति। वह खुद के बारे में भूलने और अपनी बेटी के लिए सबसे अच्छा करने का फैसला करती है।


कैप्टन अतीत के संगीन आरोप के कारण विशकर्मा की साख को धक्का लगता है।  उसके साथ सब कुछ अजीबो गरीब सी घटना घटने लगती है। जिसके चलते वो अपना मानसिक सल्तुलन खो बैठता है। और और वो धीरे-धीरे उसके और जान्हवी के बीच तकरार बढ़ने लगती है। विश्वकर्मा एक सख्त और अनुशासित ऑफिसर है जो अब धीरे-धीरे पागलपन के कगार पर है।


झूठ के पुलिंदे पर सब कुछ बसाया था अतीत के आने के बाद सब बिखरने लगता है।
फिल्म के अंत में जाकर सही मायने में अतीत का वापस आना पता लगता है आखिर वो क्यूँ वापस आया है। इस कहानी की असली खासियत यह है कि जब आपको लगता है कि मुख्य रहस्य सुलझ गया है, तो आपको एक नए और गहरे रहस्य का सामना करना पड़ेगा।


अतीत मूवी निर्देशक (Ateet Movie Director)

इस फिल्म का निर्देशन तनुज भ्रामर ने किया है आर्मी बैकग्राउंड होने के कारण वो इस फिल्म के अनछुए पहलू को सामने रख पाए। लेकिन उसका ट्रीटमेंट उतना प्रभावशाली नहीं बन पाया है। इस फिल्म में सस्पेंस को हॉरर थ्रिलर के साथ परोसा गया जिसे फिल्माने शायद कोशिश नहीं की गयी या हो सकता हो की बजट इशु रहा हो 

लेकिन फिल्म के इमोशन पहलु पे भी सही ढंग से काम नहीं किया है जैसे अतीत का अपनी बेटी के प्रति प्यार और अपनी बीवी को वापस पाना वो सब कही पे भी अपना प्रभाव नहीं छोड़ता है

इस फिल्म को  साइको थ्रिलर के रूप में पेश किया गया है लेकिन निर्देशक इसे जस्टिस करने से चूक गए थे शयद फिल्म की लेंग्थ काम होती तो शायद कुछ प्रभाव पड़ सकता था। 

ये फिल्म एक युद्ध पर आधारित है, मुख्य लड़ाई ही काफी अस्पष्ट है जिसमें कोई विशिष्ट नाम, दुश्मन या समय से संबंधित नहीं है।फिल्म की बैकग्राउंड म्यूजिक भी ठीक ठाक है कही कही वो सिरहन पैदा करता है सोनू निगम के द्वारा गया गाना भी औसत ही है  वो जहाँ पे छाप नहीं छोड़ता है।   


अतीत मूवी में अभिनय विभाग (Ateet Movie Acting Department)

इस फिल्म में सबसे अहम् रोल में प्रिय मणि है क्यूंकि पूरी फिल्म उन्ही के इर्द-गिर्द ही घुमती है जिसे प्रिय मणि बखूबी तरीके से निभाया है । जान्हवी के किरदार  की मनोदशा को वो अपने अभिनय से सामने रकने में कामयाब होती है। 

अतीत के रूप में राजीव खंडेलवाल फिल्म के सबसे मुख्य किरदार हैं, और उन्हें एक सेना कमांडर के रूप में देखना आपको उनके पुराने दिनों की याद दिलाएगा। राजीव खंडेलवाल बेहतरीन अदाकार है, उतना ही फीका किरदार लिखा गया है।  अतीत के किरदार को लेखक हरीश सागाने और प्रभावशाली बना सकते थे।  

संजय सूरी के पास भी कुछ ख़ास करने को नहीं था या ये कहले उनके किरदार को भी सही ढंग से नहीं लिखा गया है।  कुल मिलाकर राजीव खंडेलवाल और संजय सूरी के अछे फिल्मो की लिस्ट इस फिल्म को नहीं रखा जा सकता है, क्यूंकि दोनों का औसत अभिनय ही रहा है। 



Ateet Movie  | Official Trailer | Rajeev Khandelwal | Priyamani  | Sanjay Suri | Trailer Download |