लारा दत्ता-रिंकू राजगुरु का दमदार अभिनय Hundred वेब सीरीज को देखने लायक बनाता है [हंड्रेड वेब सीरीज रिव्यू]

Hundred Web Series Review-लम्बे लॉकडाउन के बीच समय व्यतीत करने के लिए Disney Hotstar पे प्रसारित हंड्रेड वेब सीरीज आपके लिए फुल्ली एंटरटेनमेंट साबित होगी |

लारा दत्ता-रिंकू राजगुरु का दमदार अभिनय Hundred वेब सीरीज को देखने लायक बनाता है [हंड्रेड वेब सीरीज रिव्यू]

रुची नारायणआशुतोष शाह और ताहिर शब्बीर की तिक्कड़ी के निर्देशन ने साधारण सी कहानी को देखने लायक बनाया हैतो वही लारा दत्ता और रिंकू राजगुरु ने अपनी दमदार अभिनय से सभी का दिल जीत लिया है |आपको बता दे रिंकू राजगुरु वही है ,जिन्होंने मराठी फिल्म सैराट से अपने अभिनय की शुरुवात की थी |

सैराट फिल्म से जबरदस्त सफलता हासिल करने के बाद अब हंड्रेड वेब सीरीज से अपना डिजिटल डेब्यू  कर रही है|अब क्या लारा दत्ता और रिंकू राजगुरु की दिलचस्प जोड़ी लोगों को मरोरंजन कर पाएगी या नहींचलिए जानते हैं 

 

Hundred Web Series Review Duration & Cast and Crew

Release Date-25-APRIL-2020

OTT – Disney Hotstar

Genre-  एक्शन,ड्रामा,कॉमेडी

Cast (कास्ट): लारा दत्ता,रिंकू राजगुरु,करण वाही

Producer (निर्माता) – आशुतोष शाहरुचि नारायणताहिर शब्बीरनीलेश भटनागर

Director (निर्देशक): रूचि नारायणआशुतोष शाहताहिर शब्बीर

Writer (लेखक): रूचि नारायणअभिषेक दुबेआशुतोष शाह

Cinematographer (छायाकार): Volkar Shellbach

Rating (रेटिंग): 3.5. स्टार (में से)

 

हंड्रेड वेब सीरीज रिव्यू (Hundred Web Series full Review)

लारा दत्ता फिल्मी परदे से काफी दिनों दूर रहने के बाद वो अब सीधे डिजिटल डेब्यू करके अपने फैंस को बड़ा सरप्राइज दिया है | तो वही मराठी फिल्म सैराट से अपने अभिनय की शुरुवात करने वाली रिंकू राजगुरु भी Disney Hotstar पे प्रसारित हंड्रेड वेब सीरीज से अपना डिजिटल डेब्यू  कर रही है

 

अब बात करे इस हंड्रेड वेब सीरीज की तो ये पूरी सीरीज आपको हँसाएगी भी तो रुलायेगी भी और इसी के साथ आपको एक्शन भी देखने को मिलेगा

 

इस वेब सीरीज में आपको लारा दत्ता और रिंकू राजगुरु की ज़बरदस्त अभिनय आपको सरप्राइज कर देगा | दोनों ने बेहद शानदार अभिनय किया है | लारा दत्ता और रिंकू राजगुरु की जोड़ी आपके चेहरे पर मुस्कान तो जरूर ले ही आएगी|

 

हंड्रेड के कलाकारों की लाजवाब एक्टिंग के लिए ये सीरीज एक बार जरूर देखी जा सकती है|हंड्रेड एक ऐसी वेब सीरीज है जो अपनी स्टोरी से ज्यादा अपने किरदारों पर फोकस करती हैइस सीरीज में हर किरदार की अपनी एक कहानी हैअपना एक संघर्ष हैइसके चलते स्टोरी कहीं पीछे छूट जाती है और कैरेक्टर हावी हो जाते हैं

 

इस वेब सीरीज के लिए अगर आप उम्मीद लगाकर बैठे हैं कि आपको कुछ नया परोसा जाएगातो ऐसा नहीं होने वाला हैये एक सिंपल क्राइम स्टोरी है जिसमें हर किरदार बस अलग-अलग फ्लेवर एड करने का काम करता है|  

इस वेब सीरीज को रुची नारायणआशुतोष शाह और ताहिर शब्बीर की तिक्कड़ी ने एक साधारण सी कहानी को अच्छे ढंग से लिखा और निर्देशित किया गया है|हालाँकि सीरीज में कही कही आपको स्क्रीनप्ले थोडा सा लम्बा लगेगा साथ ही कई जगह रिपीटेशन भी महसूस होगा लेकिन वेब सीरीज के हिसाब से ट्विस्ट एंड टर्न  को मेंटेन किया गया है जिस कारण आप सीरीज को पूरा देख सकते है।

 

हंड्रेड वेब सीरीज की कहानी (Hundred Web Series Story)

 

अगर आपको भी कहा जाए कि आपकी जिंदगी में अब बस 100 दिन रह गए हैंतो आप कैसे रिएक्ट करेंगेआप मायूस और परेशान हो जाएंगे या अपनी जिंदगी में वो सब करना चाहेंगे जो आपने अभी तक नहीं कियाकुछ ऐसी ही है मुंबई की नेत्रा पाटेल (रिंकू राजगुरु) की कहानीजो एक सेंसस ऑफिस में काम करती हैअब वैसे तो उसकी जिंदगी ठीक ही चल रही हैवो अपनी कमाई से परिवार का ध्यान भी रख रही है और अपनी जरूरतों को भी पूरा कर रही है

 

लेकिन इस सीदी-साधी जिंदगी में ट्विस्ट लेकर आता है एक ब्रेन ट्यूमरजी हांनेत्रा को एक दिन पता चलता है कि उसे ब्रेन ट्यूमर है और वो 100 दिन में मरने वाली हैअब जो नेत्रा अभी तक एक नॉर्मल लाइफ जी रही थीउसे महसूस होने लगता है उसे अभी स्विट्जरलैंड घूमने भी जाना हैउसे वो हर चीज करनी है जिससे उसकी जिंदगी थोड़ी रोमांचक बन जाए|

 

यही से एंट्री होती है एसीपी सौम्या शुक्ला (लारा दत्ता) कीजिसकी जिंदगी भी ज्यादा एक्साइटिंग नहीं हैवो करना तो बहुत कुछ चाहती है लेकिन पुलिस डिपार्टमेंट में महिलाओं के प्रति भेदभाव वाले रवैये के चलते कुछ कर नहीं पातीउसे हर बड़ा केस सुलझाना है लेकिन असल में वो या तो किसी नेता के लिए चौकीदारी कर रही होती हैया अमिताभ बच्चन के घर के बाहर भीड़ को संभालने का काम

 

सौम्या का पति डीसीपी प्रवीन नॉरकोटिक्स डिपार्टमेंट में काम करता है लेकिन कभी भी अपनी पत्नी को सपोर्ट नहीं करताउसे एक तरफ तो अपनी पत्नी की चिंता सताती है तो वहीं दूसरी तरफ करियर में उसके आगे निकल जाने का डर|

 

इस सब के बीच एसीपी सौम्या शुक्ला को खबर मिलती है कि मुंबई में बड़े स्केल पर मानव अंगों की तस्करी का काम चल रहा हैवो इस रैकेट का भंडाफोड़ करना चाहती हैयही से सौम्या और नेत्रा की जिंदगी एक दूसरे से टकराती है और शुरू हो जाता है एक अलग ही खेलसौम्या नेत्रा का इस्तेमाल कर इस रैकेट का भंडाफोड़ करने की सोचती हैवो अपने डिपार्टमेंट को बिना बताए इस मिशन को अंजाम तक पहुंचाना चाहती है|

 

कहानी में आपको पता चलेगा कि असल में नेत्रा पाटेल एसीपी सौम्या शुक्ला की जिंदगी में वो चाबी बन जाती है जिसके जरिए हर मुश्किल केस को आसानी से सुलझाया जा सकता हैनेत्रा हर केस में सौम्या की मदद भी करती है और अपने हर उस सपने को पूरा करने की कोशिश भी जो वो मरने से पहले करना चाहती है|

तो क्या नेत्रा का इस्तेमाल कर एसीपी सौम्या शुक्ला पुलिस डिपार्टमेंट में वो इज्जत कमा पाएगी जो वो लंबे समय से चाहती हैक्या उसके साथ हो रहा भेदभाव खत्म हो जाएगाकहां तक जाएगी नेत्रा और सौम्या की ये अनोखी दोस्ती? 100 दिन बाद नेत्रा पाटेल के साथ क्या होगाहर इस सवाल और कई किरदारों से आप होंगे रूबरू जब देखेंगे वेब सीरीज हंड्रेड|


  हंड्रेड वेब सीरीज अभिनय विभाग (Hundred Web Series Acting Department)

 

हंड्रेड वेब सीरीज की एक औसत कहानी को भी देखने लायक बना दिया इसकी बेमिसाल स्टारकास्ट नेइस वेब सीरीज में ताकत इसके वो कलाकार हैं जिन्होंने अपने काम से काफी इंप्रेस किया हैकिरदार चाहे बड़ा हो या छोटाहर कोई अपनी छाप छोड़ता दिखा है

 

सबसे पहले बात लारा दत्ता की ही कर लेनी चाहिए जिन्होंने लंबे टाइम बाद एक्टिंग की दुनिया में फिर कदम रखा हैबतौर एक पुलिस कॉप लारा दत्ता कमाल लगी हैंएसीपी सौम्या का कुछ कर गुजरने का जज्बा उन्होंने सही अंदाज में दर्शकों के बीच पेश किया हैउनकी डायलॉग डिलीवरी भी शानदार कही जाएगी|

 

अब इस क्राइम सीरीज में मनोरंजन का तड़का लगाया है रिंकू राजगुरु ने जिन्होंने नेत्रा पाटेल के रूप में सभी को हंसने पर मजबूर किया हैअब वैसे अगर पता चले कि कोई 100 दिन में मरने वाला हैतो आप उसे सहानुभूति की नजरों से देखेंगेलेकिन नेत्रा पाटेल आपको एक बार भी ऐसा महसूस नहीं होने देतीयही इस किरदार की खासियत भी हैरिंकू के कैरेक्टर के साथ एक फन एलिमेंट देखने को मिलता है जो पूरी सीरीज के दौरान बरकरार रहता है|

 

हंड्रेड में सरप्राइज एलिमेंट के रूप में जुड़े हैं करण वाही जो आरजे मैडी का रोल प्ले कर रहे हैंकरण ने इस सीरीज में काम कर अपनी चॉकलेट बॉय वाली इमेज को पूरी तरह तोड़ दिया हैउनके लहजे से लेकर स्टाइल तक सब कुछ हैरान करता है पर पसंद भी आता है

 

इस सीरीज में सुधांशु पांडेपरमीत सेठीराजीव सिद्धार्थ ने सह-कलाकार के रूप में बढ़िया योगदान दिया हैसीरीज में आपको कहानी इंट्रेस्टिंग लगे या ना लगे लेकिन इन सभी की परफॉर्मेंस जरूर आपको बांधकर रखेगी|

हंड्रेड वेब सीरीज के निर्देशक (Hundred Web Series Director)

हंड्रेड को रुचि नारायणआशुतोष शाह और ताहिर शब्बीर के डायरेक्शन में बनाया गया हैहंड्रेड का स्क्रीनप्ले कमजोर तो नहीं कहा जा सकता लेकिन इसे ज्यादा लंबा जरूर खींच दिया गया हैकहानी में आपको रिपीटेशन भी महसूस होगी और कई चीजें बेफिजूल होती भी दिखेंगीइस सब के बीच दो पहलुओं पर ये वेब सीरीज खरी उतरती है

एक तो हर किरदार को डेवलप होने की स्पेस दी गई हैदूसरी तरफ डायलॉग भी दमदार लगे हैंहंड्रेड का क्लाइमेक्स थोड़ा कमजोर रह गया हैजितने ट्विस्ट एंड टर्न्स आपको हर एपिसोड में देखने को मिलते हैंउसके लिहाज से सीरीज का क्लाइमेक्स फीका लगता हैकुछ ऐसा जिसे देख आप हैरान रह जाए या कोई सस्पेंस एलिमेंट हंड्रेड में मिसिंग रहा है|