शॉर्प स्टोरी लाइन की कमी के चलते इललीगल बेहतरीन वेब सीरीज होने से चूक गयी[इललीगल वेब सीरीज रिव्यू]


#ILLEGAL WEB SERIES-इललीगल वेब सिरीज़ को अच्छी कास्ट और बेहतरीन कॉन्सेप्ट का सपोर्ट तो है|लेकिन अगर शॉर्प स्टोरी लाइन का सपोर्ट और मिल जाता तो ‘इललीगल’ वूट सलेक्ट (Voot select) की एक बेहतरीन वेब सीरीज हो सकती थी| खैर कोर्ट रूम ड्रामा को नए फ्लेवर के साथ पेश किया गया है जहाँ आपको चिलम-चिल्ली और हेवी बैकग्राउंड म्यूजिक वगैरह देखने को नहीं मिलेगी |

इललीगल वेब सिरीज़ में मुख्य कास्ट पीयूष मिश्रा, नेहा शर्मा,अक्षय ओबेरॉय के अलावा स्क्रेड गेम फेम कुबरा सेत भी है जिसका निर्देशन साहिर रजा ने किया है |
चलिए जानते है की दर्शको को इललीगल वेब सिरीज़ पसंद आयेगी की नहीं ?

शॉर्प स्टोरी लाइन की कमी के चलते इललीगल बेहतरीन वेब सीरीज होने से चूक गयी[इललीगल वेब सीरीज रिव्यू]

ILLEGAL Web Series Review Duration & Cast and Crew

Release Date-12-MAY-2020
OTT – VOOT SELECT
Episode Duration: 23-30 min every episode (10 episodes)
Genre-  ड्रामा  
Cast (कास्ट): पीयूष मिश्रा, नेहा शर्मा, कुबरा सेत, सत्यदीप मिश्रा, अक्षय ओबेरॉय
Producer (निर्माता) – समीर खान
Creative Producer-विक्रम भट
Director (निर्देशक): साहिर रजा
Writer (लेखक): रेषु नाथ |

Cinematographer (छायाकार): समीर आर्य

Rating (रेटिंग): 2⭐ स्टार (में से)


 #इललीगल वेब सीरीज रिव्यू (ILLEGAL Web Series Full Review)

"इललीगल" वेब सिरीज़ आगे बढ़ने के प्रोसेज में नैतिकता और अनैतिकता, सही और गलत के मुद्दे पर आधारित है जिसको एक कोर्ट रूम के परिवेश में ढाला गया है | इललीगल की सरंचना बनते वक़्त इस बात का ध्यान रखा गया है की ये अपना नजरिया समाज पे नहीं थोपती है।बल्कि इललीगल सिरीज़ के विजन पूरी तरह ऑथेंटिक रखा है। व्यूअर्स का ध्यान खीचने के लिए ज़बरदस्ती का कोर्ट रूम ड्रामा में चीखना चिल्लाना नहीं रहा गया है | जिसके चलते दोनों पक्षों के वकील की जिरह और बात चीत रियल लगती है | जो की काफी स्वाभाविक लगता है| सीन्स और बैकग्राउंड म्यूजिक का सपोर्ट बेहद खूबसूरती से बुना गया है |इसलिए कोई भी सीन हेवी नहीं लगता है |
सबसे ख़ास बात इस सिरीज़ की एक और है की ये अपने मुद्दे से भटकती नहीं है | लोगों की रुचि बनाए रखने के लिए सीरीज के हर एपिसोड के एंड में एक इंट्रेस्टिंग ट्विस्ट आता है।
इललीगल के कंटेट या उसके इमेजिनेशन में कोई कमी नहीं है बल्कि वेब सिरीज़  शॉर्प स्टोरी लाइन की कमी बड़ी अखरती है |बेहतरीन सीन्स का फ्लैट प्रस्तुतिकरण भी इसके व्यूअर्स को खूब खलेगा | 
लेखक रेषु नाथ कहानी के डेप्थ में नहीं गए| जहाँ दमदार करेक्टर्स और मजेदार सिचुएशन दर्शको को बांधे रखने की कोशिश करती है वही इसकी कहानी की गहरायी में न जाना इसको देखने के अनुभवों को हल्का कर देती है जिसे डायरेक्टर साहिर रजा भी इसे संभाल नहीं पायें हैं। कहानी में रोमांटिक एंगल भी रखा गया है, शायद इमोशनल ट्विस्ट लाने के लिए पर वो इंज्वॉयमेंट से ज्यादा ध्यान भटकाने का काम करता है।

#इललीगल वेब सीरीज की कहानी (ILLEGAL Web Series Story)


इललीगल कहानी है एक रिस्पांसिबल और आइडियलिस्टिक वकील, निहारिका सिंह (नेहा शर्मा) है। निहारिका तेज तर्रार टॉप लीगल एक्सपर्ट जनार्दन जेटली, उर्फ जेजे (पीयूष मिश्रा), की फर्म में काम करती है। शुरू में, जेजे उसे मेहर (कुबरा सेत) नाम की एक महिला के लिए लड़ने के लिए कहता है, जिसने अपने परिवार में चार लोगों की हत्या की है।
आइडियलिस्टिक निहारिका एक ऐसे मामले जिसमें मृत्युदंड मिलना नेचुरल है, एक महिला को शामिल देख कर काफी इंट्रेस्ट लेती है। तभी जेजे कहता है कि वह एक दुष्कर्म के आरोपी नीरज (अंकित गुप्ता) का केस लड़े। जलदी ही निहारिका दुनिया को अदालतों और केसेज की नजर से देखना शुरू कर देती है।
यौन हमले का विषय शो को बांधता है। पहले एपिसोड में, हम निहारिका को सार्वजनिक रूप से एक यौन शिकारी के खिलाफ लड़ते देखते है| जो की  न केवल उसके करियर के लिए खतरा है, लेकिन वो फिर भी इसके खिलाफ आवाज़ उठाने में कभी डरती नहीं है | बस फिर क्या निहारिका का कोर्ट रूम और पारिवारिक –सामाजिक लड़ाई शुरू हो जाती  है
खैर कहानी में रिश्तो के पेंच भी डाले गए है जैसे की नीरज (अंकित गुप्ता) निहारिका का सौतेला भाई लगेगा क्यूंकि पिता सूर्या (दीपक तिजोरी) उसकी माँ को छोड़ने के बाद दूसरी शादी कर ली थी जिससे उसका एक बीटा नीरज है| जिसका केस लड़ने से वो मन कर देती है |आगे क्या होगा क्या वो नीरज और मेहर (कुबरा सेत) का केस  लड़ेगी ? क्या वो अपने भाई को बचा पायेगी ?क्या उसका सामना अपने पिता से होगा ? इन सवालों के जवाब के लिए आपको voot सेलेक्ट पे ये सिरीज़ देखनी होगी |
इसमें लव एंगल को भी डाला गया है जैसे की अक्षय (अक्षय ओबेरॉय) लीगल एक्सपर्ट जनार्दन जेटली, उर्फ जेजे (पीयूष मिश्रा) का लड़का है जिसका पूर्व में निहारिका से लव अफेयर रह चूका है क्या दोनों फिर से एक हो पाएंगे ?
नीरज  अक्षय (अक्षय ओबेरॉय) का बचपन का दोस्त है क्या अक्षय निहारिका को  नीरज का केस लड़ने के लिए हां करा पायेगा ?क्या निहारिका नीरज के खिलाफ केस लड़ेगी ?

#इललीगल वेब सीरीज अभिनय विभाग (ILLEGAL Web Series Acting Department)


लीगल एक्सपर्ट जनार्दन जेटली, उर्फ जेजे के करेक्टर को पियूष मिश्रा ने अलग अंदाज़ से निभाया है जो वाकई काबिले तारीफ है एक शांत चित लेकिन दिमाग के अंदर चल साज़िश को बिल्कुल भी चहरे भी स्पष्ट न होना | ये उनकी अभिनय क्षमता को दर्शाता है| नेहा शर्मा ने बतौर मोर्डेन दौर की महिला वकील के रूप में अपना बेस्ट देने की कोशिश की है लेकिन कई जगह वो चूक गयी है जैसे उन्हें सही जगह पर पे सही तौर से संवाद बोलने की टैंडेंसी डेवलप करने की जरूरत है। दुष्कर्म पीड़िता के वकील के रूप में सत्यदीप मिश्रा प्रभावशाली हैं। कुबरा सेत ने जेल में दुर्व्यवहार करने वाले मौत की सजा पाये हुए कैदी के करेक्टर से न्याय करते हुए खुद को एक बार फिर साबित किया है।

#इललीगल वेब सीरीज निर्देशक (ILLEGAL Web Series Director)

"इललीगल" अपनी कास्ट और कॉन्सेप्ट के चलते इंट्रेस्ट पैदा करती है। लेकिन निर्देशन विभाग से निराशा लगती है | अगर पटकथा और निर्देशन पर थोड़ा सा ध्यान दिया होता तो ये एक बेहतरीन वेब सिरीज़ बन सकती थी |
योंन उत्पीड़न के जैसे मुद्दे को ध्यान में रख कर बनायीं गयी "इललीगल" वेब सिरीज़ में सभी कुछ औसत दर्जे का है ,बस कांसेप्ट को छोड़कर |