पाताल लोक की कहानी रहस्यमय पात्रों की तह तक जाती है। [पाताल लोक वेब सीरीज रिव्यू]

Paatal lok Web Series Review -पाताल लोक की कहानी आपको पाताललोक  से बाहर  नहीं आने देगी | अगर आप ने इस वेब सीरीज़ को देखना शुरू किया तो आख़िरी एपिसोड तक चिपके रहेंगे |15 मई को Amazon Prime Video के डिजिटल प्लेटफॉर्म (Digital Platform) पे रिलीज़ की गयी है| लम्बे अरसे के बाद OTT पे जबरदस्त क्राइम थिर्लर सिरीज़ देखने को मिली है जिसमे मुख्य भूमिका में जयदीप अहलावत ,नीरज काबी,अभिषेक बनर्जी और गुल पनाग है |


पाताल लोक की कहानी रहस्यमय पात्रों की तह तक जाती है। [पाताल लोक वेब सीरीज रिव्यू]

Paatal lok Web Series Review Duration & Cast and Crew

Release Date-15-MAY-2020
OTT – Amazon Prime Video
Episode Duration: 43 -53  min every episode (9 episodes)
Genre-  क्राइम थ्रिलर
Cast (कास्ट): नीरज काबी, गुल पनाग, जयदीप अहलावत, अभिषेक बनर्जी, मायरंबम बलदास सिंह
स्वस्तिक मुखर्जी Created by- सुदीप शर्मा
Producer (निर्माता) – Clean Slate Films (अनुष्का शर्मा)
Director (निर्देशक): अविनाश अरुण और प्रोसित रॉय
Writer (लेखक): सुदीप शर्मा, गुंजीत चोपड़ा, सागर हवेली, हार्दिक मेहता|
Cinematographer (छायाकार): अविनाश अरुण,सौरभ गोस्वामी

Rating (रेटिंग): 3.5 ⭐स्टार (में से)

पाताल लोक वेब सीरीज रिव्यू (Paatal lok Web Series full Review)

डिजिटल प्लेटफार्म पे अभी तक कोई भी वेब सिरीज़  'सेक्रेड गेम्स' या 'मिर्ज़ापुर' जैसा ट्रेंड सेट नहीं कर पाई है । लेकिन लम्बे अरसे के बाद वेब सिरीज़ के दर्शको के लिए  अमेज़न प्राइम वीडियो(Amazon Prime Video) नयी सिरीज़ पाताल लोकलेकर आया है जो दर्शको को पसंद आएगी जिसकी ख़ास वजह है इस  वेब सिरीज़ की कहानी और उसके किरदार जिन्हें कई परतो में लिखा गया है सबसे खास ये है की इस शूटिंग बिलकुल रियलिस्टिक तरीके से की गयी है जिस कारण आम दर्शक इससे जुड़ पाए | इसमें सभी कुछ है जो एक क्राइम थ्रिलर में होना चाहिए |

पाताल लोक में हिंसा और अपशब्द काफी अधिक हैं जो इसको वास्तविकता लाने के लिए रखे गए है| कहानी और एक्टरो का अभिनय काफी अच्छा है इसलिए कुछ एपिसोड की धीमी गति आपको महसुसू नहीं होगी|

ऐसा नहीं है कि वेब सीरीज़ एकदम अव्वल दर्जे की है, वैसे तो कुछ खास कमी नहीं है लेकिन पाताल लोक का अंत आपको थोड़ा सा निराश कर देगा | क्यूंकि देखते वक्त आपको अंत की जिज्ञासा होने लगती है लेखक को अंत और बेहतर सोचना चाहिए था |

'पाताल लोकवेब सीरिज का निर्देशन सुदीप शर्मा ने किया है और अनुष्का शर्मा के प्रोडक्शन कम्पनी के बैनर पे बनी है। आइये आगे जानते है की और क्या ख़ास है इस वेब सीरिज में और क्या है इसकी कहानी ?

पाताल लोक वेब सीरीज की कहानी (Paatal lok Web Series Story)

कहानी एक पुलिस वाले की है। नाम है हाथीराम चौधरी (जयदीप अहलावत)। दिल्ली के आउटर जमुनापार थाने में पोस्टिंग है। हाथीराम की वाट्सअप यूनिवर्सिटी के मुताबिकदुनिया में तीन लोक हैं। स्वर्ग लोक- जहां बड़े लोग रहते हैं। धरती लोक- जहां वह रहता है। पाताल लोक- जहां उसकी पोस्टिंग है। हाथीराम के इलाके में एक ब्रिज है।

जहाँ दिल्ली पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन में इस ब्रिज पर चार क्रिमनल गिरफ्तार होते हैं। हथौड़ा त्यागी, टोप सिंह, चीनी और कबीर एम। इन पर मीडिया टाईकून संजीव मेहरा (नीरज काबी) की हत्या की साजिश का आरोप है। संजीव मेहरा सफेद कल्फ में काले कोट वाले एक फेमस टीवी जर्नलिस्ट हैं। एक समय का हीरो और आज टीआरपी में जीरो।

यह केस हाथीराम को सौंपा जाता है। केस में कई पहलू हैं, जिसे हाथीराम को सुलझाना है। लेकिन हाथीराम को केस में लापरवाही के चलते उसे सस्पेंड कर दिया जाता है| इसके बाद हाथीराम के जीवन से सबकुछ ख़तम हो जाता है |लेकिन वो फिर भी उस केस की तहकीकात में लगा रहता है क्यूंकि हाथीराम को ना सिर्फ पुलिस डिपार्टमेंट को बताना है, बल्कि अपने परिवार को भी बतना है कि वह हीरो है।क्या वह केस सुलझा पाता है? यह जानने के लिए आपको वेब सीरीज़ देखनी होगी।

इस वेब सीरिज़ की कहानी ही इसकी जान है। खास तौर से आज के भारत में हो रही घटानाओं को दर्शाने का अच्छा प्रयास किया गया है| सब कुछ दिखने के चक्कर में सीरिज़ का थ्रिलर और सस्पेंस आखिरी छड़ तक गायब नहीं हुआ है। हर एपिसोड में एक ट्विस्ट है,जिसे आप पहले से प्रिडिक्ट नहीं कर सकते। कई ऐसे डायलॉग हैं, जिसने लोगों को मीम मेटरियल भी मिलेगा। जैसे- ऐसा पुराणों में लिखा है, लेकिन मैंने वाट्सअप पर पढ़ा है। सुदीप शर्मा, गुंजीत चोपड़ा, सागर हवेली और हार्दिक मेहता ने मिलकर अच्छा काम किया है।

यह भी पढ़े : अनुष्का शर्मा की पाताल लोक वेब सीरिज़ में एक दृश्य में गोरखा की भावनाओं को आहत करने के लिए अनुष्का को एक कानूनी नोटिस जारी किया गया है।


पाताल लोक वेब सीरीज निर्देशक (Paatal lok Web Series Director)

उड़ता पंजाबऔर 'एनएच 10 जबरदस्त फिल्मो को सुदीप शर्मा लिख चुके है इसलिए उनकी लेखनी पे तो सवाल नहीं खड़ा होता | सुदीप ने पाताल लोक वेब सीरीज़ को बिलकुल सरल बनाए रखा है। इसलिए एपिसोड आगे बढ़ते-बढ़ते यह ये आपको अपने गिरफ्त में लेता है या यूँ कह ले की आप धीरे धीरे  'पाताल लोकमें प्रवेश करते चले जाते हैं। हालाँकि इस  सीरिज़ का निर्देशन की कमान अविनाश अरुण और प्रोसित रॉय के कंधो पे थी |

जिन्होंने लोकल भाषालोकेशन और रंग सब पर बराबर पकड़ बना कर रखी है। 
पंजाब के सीन में आपको पंजाबी सुनाई देगी। नई दिल्ली की हाई सोसाइटी में अंग्रेजीतो उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में बुंदेलखंडी। सुदीप ने अपने लेखन से सही बैलेंस किया है आपको कभी नहीं लगेगा कि भाषा की वजह से कहानी कही भी भटक रही है।

पूरी सीरिज़ का तकनीक पक्ष मजबूत है। ज्यादातर शूटिंग वास्तविक लोकशन पर की गई है। अगर नहीं भी हैतो आपको अहसास नहीं होता है। ड्रोन से लेकर क्लोज़ शॉट्स तक कैमरे का हर एंगल आपको देखने को मिल जाता है। कुल मिलकार तकनीक इसे देखने के हिसाब से सरल बनाती है। ख़ासकर हिंसा वाले सीन का फ़िल्मांकन तारीफ लायक है। 

 




पाताल लोक वेब सीरीज अभिनय विभाग (Paatal lok Web Series Acting Department)


कहानी और निर्देशन को अगर अच्छे एक्टर मिल जाये तो फिर सोने पे सुहागा हो जाता है|ऐसा ही पाताल लोक के साथ हुआ | 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' के पहले पार्ट में शाहिद का किरदार निभाने वाले जयदीप अहलावत बिलकुल रंगत में नज़र आए हैं।

जयदीप अहलावत एक दिल्ली के पुलिस इंस्पेक्टर का किरदार बेहद उंदा तरीके से निभाया है| सही मायने में उन्होंने दबे हुए पुलिस अधिकारी को सही ढंग से निभाया हैं। एक परेशान पुलिस वाला, जो घर समाज और ऑफ़िस तीनों जगह लड़ रहा है। 

उस पुलिस वाले की खुशी, गम और चिंता को जयदीप ने अपने चेहरे पर शिद्दत से उतारा है। जयदीप के साथी पुलिस वाले इश्वाक सिंह भी एक्टिंग के मामले में पूरी तरह से सहयोग देते हैं।

नीरज काबी एक प्रोफेशनल पत्रकार की भूमिका में फबे हैं। वहीं, हथौड़ा त्यागी का किरदार निभाने वाले अभिषेक बनर्जी के हाथो कुछ खास नहीं था उनके पास संवाद भी कम थे लेकिन उन्होंने अपनी आंखें सब कुछ बंया कर दिया। गुल पनाग एक घरेलू महिला का किरदार को एकदम सरलता से निभा देती हैं।

 


यह भी पढ़ें:-शॉर्प स्टोरी लाइन की कमी के चलते इललीगल बेहतरीन वेब सीरीज होने से चूक गयी[इललीगल वेब सीरीज रिव्यू]