सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु को असंवेदनशील ढंग से दिखाने लिए इंडिया टुडे ग्रुप को कानूनी नोटिस|

सोमवार दिल्ली उच्च न्यायालय (DELHI HIGH COURT) के एक अधिवक्ता मोहित सिंह ने इंडिया टुडे के चेयरमैन और एडिटर-इन-चीफ आरोन पुरी को उनके टीवी चैनल पे बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत को 'असंवेदनशील' तरीके से कवरेज दिखने के लिए मानहानि का कानूनी नोटिस भेजा है।

सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु को असंवेदनशील ढंग से दिखाने लिए इंडिया टुडे ग्रुप को कानूनी नोटिस|


रविवार 14 जून को हर दिल अजीज़ बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने मुंबई स्थित बांद्रा के फ्लैट में खुदखुशी कर सभी को हैरान कर दिया था | पहली बार सुना तो कानो को यकीं न हुआ | इतने प्रतिभावान अभिनेता और प्यारी सी मुस्कान के धनी सुशांत ऐसा कर लेंगे विश्वाश करना मुश्किल था | तो झट से टीवी ऑन किया तो ये ख़बर सच निकली| मन बहुत दुखी हो गया | 

सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु को असंवेदनशील ढंग से दिखाने लिए इंडिया टुडे ग्रुप को कानूनी नोटिस|
  IMAGE SOURCE @SOCIAL MEDIA 

शनिवार रात सोने से पहले मैंने उनकी लास्ट डिजिटल रिलीज़ फिल्म ड्राइव (Drive) देखि थी जिसे करन जोहर ने Netflix पे रिलीज़ की थी | विश्वाश नहीं हो रहा था अगले दिन उनकी मौत की ख़बर आएगी,सुशांत ने ऐसा बड़ा कदम कैसे उठा लिया ? उनकी खुबसुरत मुस्कारहट के पीछे लगता है काफी दुःख रहा होगा जो वो अपनी मुस्कान से ढक लेते थे | दुखद है उनका इस तरह से जाना लेकिन दुःख जब और बढ़ जात है जब मीडिया में उनकी मौत को बड़े ही असंवेदन शील तरके से दिखाया गया था |


किस वजह से आज तक को मिला क़ानूनी नोटिस ?


इंडिया टुडे समूह के चैनल में उनकी मौत की खबर की रिपोर्ट करते हुए, एक समाचार टिकर को फ्लैश किया जा रहा था जिसमें लिखा गया की “ऐसे कैसे हिट विकेट हो गए सुशांत?”

आपको बतादे सुशांत ने एमएस धोनी: अनटोल्ड स्टोरी फिल्म की थी जिसमे उन्होंने धोनी का किरदार निभाया था ये फिल्म भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की बायोपिक थी | इस फिल्म में उनकी जम कर तारीफ भी हुई थी |

इसी तरह 'ताल ठोक के' न्यूज़ प्रोग्राम में ये चलाया जा रहा था "वास्तविक जीवन में  सिनेमा के धोनी को 'कैसे' आउट किया?"

सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु को असंवेदनशील ढंग से दिखाने लिए इंडिया टुडे ग्रुप को कानूनी नोटिस|
 IMAGE SOURCE @SOCIAL MEDIA 

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के चौंकाने वाले निधन के बारे में खबर की रिपोर्ट करना बड़ा ही निंदनीय है | पता नहीं न्यूज़ चैनल ऐसी हरकत क्यूँ करते है सिर्फ अपनी टी आर पी के चक्कर में सब संवेदनाये भूल जाते है |

इसके कुछ समय बाद, दोनों टीवी नेटवर्क को असंवेदनशील रिपोर्टर्स के लिए ट्विटर उपयोगकर्ताओं से गंभीर आघात का सामना करना पड़ा, जिसके साथ ट्विटर पर #ShameOnAajTak और #ShameOnZee समाचार ट्रेंड कर रहा है।

क़ानूनी नोटिस में क्या कहा गया है?


इसी सब को ध्यान में रख कर दिल्ली हाई कोर्ट के अधिवक्ता मोहित सिंह ने बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की दुखद मौत पर अपमानजनक रिपोर्टिंग के लिए इंडिया टुडे ग्रुप के अध्यक्ष और प्रधान संपादक को मानहानि का कानूनी नोटिस दिया है।

उन्होंने अपने नोटिस में  कहा है "अभिनेता सुशांत की आत्महत्या क्रिकेट में एक बल्लेबाज के हिट विकेट होने के समान है, जो गेंद का सामना करते हुए अपने बल्ले या अपने शरीर के किसी भी हिस्से से अपना विकेट को हिट करता है। इस तरह की भाषा का लापरवाही से उपयोग यह दर्शाता है कि बहुत अधिक देखे जाने वाले समाचार चैनल, आजतक ने भारतीय जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी को नहीं निभाया है।"( केवल न्यूज़ का सोर्स लाइव.इन न्यूज़ वेबसाइट से लिया गया है )

मोहित ने कहा कि इस तरह की हरकतें भारतीय दंड संहिता की धारा 500 के तहत मानहानि का अपराध है।

वकील ने इंडिया टुडे समूह से अभिनेता की मृत्यु के अपने कवरेज के लिए बिना शर्त माफी मांगने के लिए कहा है, जिसमें विफल है कि वह उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगा।




टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां