Search Bar

लालबाजार का थ्रिलर सस्पेंस आपको अंत तक बांधे रखेगा |[ Lalbaazar web series review]

Lalbaazar web series review – इस वेब सीरीज़ में क्राइम थीम के चहाने वालो के लिए सब कुछ है | कहानी में दमदार थ्रिलर के साथ सस्पेंस भी गज़ब का है | अगर आप इसे एक बार देखना शुरू करेंगे तो इसके आखरी एपिसोड तक चिपके रहेंगे | इस वेब सीरीज़ में पच्छिम बंगाल के महशूर एक्टर कौशिक सेन है जिनकी एक्टिंग के आप कायल हो जायेंगे | चलिए जानते है की क्या आपको लालबाजार  वेब सीरीज़ देखनी चाहिये की नहीं ? क्या ख़ास है इस वेब सीरीज़ में ? 


लालबाजार का थ्रिलर सस्पेंस आपको अंत तक बांधे रखेगा |[ Lalbaazar web series review]


Lalbazaar (लाल बाज़ार) वेब सीरीज़ की समीक्षा



अगर सस्पेंस थ्रिलर की कहानी को सही तौर तरीके से स्क्रीन पे उतरा जाये तो दर्शको उसे पसंद ज़रूर करते है | इसीलिए लालबाजार वेब सीरीज़ में क्राइम जॉनर को चहाने वालो की सब कुछ है |

19 जून 2020 को ZEE5 डिजिटल प्लेटफार्म पे लालबाजार वेब सीरीज़ लांच की गयी है | Lalbazaar (लाल बाजार) की कहानी अपराधी और पुलिस के बीच साख़ की लड़ाई की है, जिसमे बेख़ौफ़ हो चुके अपराधी लाल बाज़ार पुलिस थाने को हर मोड़ पे चकमा दे रहे है |

पूरी वेब सीरीज कोलकाता के लाल बाजार पुलिस थाने के इर्द-गिर्द घूमती है। यहाँ अपराध के कई सारे केस आते है जिन्हें अपनी सूझ भूज से सीनियर पुलिस अधिकारी सुरंजन सेन (कौशिक सेन) और उनकी टीम केस को सुलझा लेते है लेकिन इन सभी केस में एक ऐसा केस आता है,जिसको लेकर आपके अंदर अंत तक सस्पेंस बरकरार रहेगा।

Lalbazaar (लाल बाज़ार) की कहानी


लाल बाज़ार की कहानी की शुरुआत होती है  रेड लाइट एरिया से जहाँ एक वेश्या किसी के साथ हम बिस्तर हो रही और वो कहती है की वो उसके बच्चे की माँ बनने वाली है | तो वो शख्स उसका गला दबाकर उसकी हत्या कर देता है | इस समय उस शख्स का चेहरा नहीं दिखाया गया है |

लेकिन अगले दिन उस सेक्स वर्कर की लाश फंदे पे लटकी हुई मिलती है |यह मामला कोलकाता के वाटगंज थाने का होता है ,लेकिन ठीक इसी वक़्त लालबाजार के इलाके एक झील में किसी महिला का इंटरनल पार्ट्स (भ्रूण) मिलता है | 

अब लालबाजार और वाटरगंज पुलिस इसकी तहकीकात करती है | लेकिन तहकीकात में निकल कर कुछ और ही आता है | वो इंटरनल पार्ट्स उस वेश्या का नहीं होता| अब इस केस के तार कोलकाता के लाल बाजार पुलिस मुख्यालय से कैसे जुड़े जाते हैं, यही इस वेब सीरीज में दिखाया गया है। और कैसे केस दर केस ये गुथी उलझती जाती है? जिसका जिम्मा सीनियर पुलिस ऑफिसर सुरंजन सेन को दिया जाता हैं।

सुरंजन सेन अपनी एक स्पेशल टीम के साथ इस केस को सुलझा पायेगी ?और कौन है वो कातिल ? पूरी वेब सीरीज में कौशिक सेन की भूमिका को भी संदिग्ध तौर से दिखया गया है।  जिस कारण आप कहानी में आखिरी तक बंधे रहेंगे ।


क्या ख़ास है Lalbazaar (लाल बाज़ार) वेब सीरीज में। 


इस सीरीज़ का निर्देशन सयतन घोषाल ने किया है| उन्होंने क्राइम की परतो को परत दर परत खोला है जिस कारण से लालबाजार वेब सीरीज़ अपनी पकड़ हर एपिसोड्स में बनाये रखती है | 

इस सीरीज़ का हर एपिसोड सस्पेंस थ्रिलर के मनोरंजन से भरा पड़ा है | अगर एक भी एपिसोड मिस हुआ तो आप उस कड़ी को पकड़ नहीं पाएंगे | इसलिए आपको हर एपिसोड देखना होगा | यही इसकी usp भी है | कहानी के हिसाब से लोकेशन का चयन भी उपयुक्त तरीके से किया गया है | जिसे सिनेमेटोग्राफर ने अच्छे शूट किया है |


कुल मिलकर लालबाजार बेहतरीन  क्राइम सस्पेंस थ्रिलर सेब सीरीज़ है जिसे आपको मिस नहीं करना चाहिए अगर आप क्राइम सस्पेंस जॉनर शौक़ीन है |


अभिनय 


इस वेब सीरीज़ की कहानी तो उंदा है ही साथ की इसमें आपको सभी एक्टर्स की  परफॉर्मेंस भी पसंद आएगी। कौशिक सेन सीनियर पुलिस ऑफिसर के रोल में ऐसी सधी हुई परफॉर्मेंस दी है जिसे देख कर आप कौशिक सेन के अभिनय के कायल हो जायेंगे |


इसके अलावा गौरव चक्रवर्ती, सब्यसाची चक्रवर्ती, सौरासेनी मैत्रा, हृषिता भट्ट, सुब्रत दत्ता, विजय सिंह, अनिर्बान और रोब डे ने अपने-अपने किरदारों के साथ न्याय किया है। सभी कलाकार अपने-अपने किरदार में जच रहे हैं। और लगभग सभी ने बहुत सधी हुई एक्टिंग की है जो बहुत  ही कम देखने को मिलता है |


 हृषिता भट्ट भी टीवी पत्रकार के रूप में काफी जच रही हैं। तो वहीं सौरासेनी मैत्रा ने तेज-तर्रार महिला पुलिस ऑफिसर की भूमिका में है जिन्होंने इस रोल में अपनी छाप छोड़ कर सभी को प्रभावित कर दिया है । 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां