London Confidential मे चाइनीज कॉन्सपिरेसी की चाल को नाकाम करती दिखेंगी इंडियन-स्पाई मौनी रॉय

(Mouni Roy's Spy-thriller film London Confidential)मौनी रॉय की स्पाई-थ्रिलर फिल्म ‘London Confidential’ नीरज पांडेय की फिल्म बेबी (Baby) और नाम शबाना (Naam Shabana) के तर्ज पर ही बनी है| आइए जानते की क्या लंदन कॉन्फिडेंशियल आपको अंत तक बांधे रखने मे कामयाब होगी की नहीं ?


London Confidential मे चाइनीज कॉन्सपिरेसी की चाल को नाकाम करती दिखेंगी इंडियन-स्पाई मौनी रॉय

बालाजी के हिट शो नागिन के लीड किरदार के बाद मौनी रॉय पहली बार इंडियन-स्पाई के रूप मे नजर आई है उनका नया लुक कितना आपको पसंद आएगा? क्या London Confidential फिल्म की कहानी आपको पसंद आएगी ?


लंदन कॉन्फिडेंशियल समीक्षा

पिछले कुछ सालों इंडियन फिल्म मेकर भी स्पाई-थ्रिलर कंटेन्ट पे काम करने लगे है,जिसे यहाँ बहुत बड़ा वर्ग पसंद भी करता है| जिसमे से कुछ चुनिंदा फिल्मे है जैसे बेबी,नाम शबाना, द फैमिली मैन (The Family man) और बर्ड ऑफ ब्लड (Bard Of Blood) इत्यादि| इसी कड़ी को आगे बढ़ती है निर्देशक कंवल सेठ की फिल्म लंदन कॉन्फिडेंशियल (London Confidential) जो की 18 सितंबर को ZEE5 Ott Platform पर रिलीज हो चुकी है|

कंवल सेठी की निर्देशन मे बनी ‘London Confidential’ फिल्म की कहानी फिक्शनल सिचुएशनल बेस्ड है जहां कोरोना (Covid19) की महामारी से पूरी दुनिया ग्रस्त है जिसमे भारत भी अछूता नहीं है | भारत का पड़ोसी देश चीन कोरोना के बाद नए वायरस को भारत मे फैलाने की साजिश रच रहा है | 

जिसे नाकाम करने की जिम्मेदारी लंदन बेस्ड इंडियन-स्पाई उमा कुलकर्नी (मौनी रॉय) पर है | कहानी मे आगे क्या होने वाला है इसी सस्पेंस को बरकरार रखने ये फिल्म कामयाब होती है | उमा कुलकर्नी की टीम मे एक गद्दार है जिसे आप अंत तक नहीं जान पाएंगे की कौन है वो यही ‘London Confidential’ की खास बात है जिस कारण आप अंत तक बंधे रहते है |

लंदन कॉन्फिडेंशियल कहानी

फिल्म की कहानी शुरू होती है लंदन मे मौजूद इंडियन सीक्रिट एजेंट बिरेन घोष अपनी वाइफ से फोन पर कहता की उसे उसे कुछ हो जाए तो वो सिर्फ उमा से कान्टैक्ट करे किसी और से नहीं | थोड़ी देर के बाद उसका किड़नेप हो जाता है| जिसके पीछे है वो राज़ है जिससे चाइनीज कॉन्सपिरेसी के भेद खुल जाएंगे|

असल मे कहानी है जहां पूरी दुनिया कोरोना की महामारी से जूझ रही है तो वही चाइना भारत की सीमा पर नए वाइरस अटैक की तैयारी मे लगा हुआ है | जिसे सिर्फ बिरेन का एक इंटेल ही जनता है | इसकी खबर चाइनीज सीक्रिट एजेंट को लग जाती है| लेकिन उस इंटेल को कोई नहीं पहचानता|

अब इस मिशन की जिम्मेदारी लंदन में इंडियन इंटेलिजेंस की ऑपरेशन हेड उमा कुलकर्नी (मौनी रॉय) को दी जाती है| जो की प्रेग्नेंट है,लेकिन फिर भी वो अपनी जिम्मेदारी को निभाने के लिए तैयार हो जाती है |

उमा कुलकर्नी की टीम मे फिल्ड ऑफिसर अर्जुन मनीष कुमार (पूरब कोहली) भी है जो बिरेन की खोज मे ऐक्टिव हो जाता है| लेकिन जैसे ही उमा की टीम ऐक्टिव होती है तो बिरेन की हत्या हो जाती है | अब उमा के सामने एक और चुनौती या जाती है की उस लीड को सिर्फ बिरेन ही जनता था अब वो उस तक कैसे पहुंचेगी |

अब उमा वह इस खोज में लग जाती हैं कि बीरेन घोष की हत्या होने से पहले उस लीड की इनफार्मेशन किसको दी है | साथ ही ये भी जानना है कि उसकी हत्या के पीछे कौन है?

बिरेन के बाद जो भी लीड उमा को मिलती है उस तक पहुचने से पहले ही उसकी हत्या हो जाती है | अब उमा को लगता है की कोई है जो उसकी टीम के सारे राज़ पहले से जनता है और उस पर नजर रखे हुआ है | इन तमाम हत्या की वजह से लंदन में इंडियन इंटेलिजेंस पर सवाल भी खड़े होने लगते है | अब उसे इंडिया वापस आने को कहा जाता है और इस मिशन की जिम्मेदारी फिल्ड ऑफिसर अर्जुन मनीष कुमार (पूरब कोहली) को सौंप दी जाती है |

लेकिन क्या उमा मिशन को अधूरा छोड़ कर वापस आएगी ? क्या चाइनीज कॉन्सपिरेसी को नाकाम करने मे उमा सफल हो पाएगी ? और कौन है उसकी टीम मे जो उनके सारे राज़ को दुश्मनों से साझा कर रहा  है ? इसे जानने  के लिए आपको लंदन कॉन्फिडेंशियल देखनी होगी |